वाराणसी : गोदौलिया से दशाश्वमेध तक 8 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडीस्ट्राइजेशन कार्य का कमिश्नर ने किया किया स्थलीय निरीक्षण - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 24 June 2020

वाराणसी : गोदौलिया से दशाश्वमेध तक 8 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडीस्ट्राइजेशन कार्य का कमिश्नर ने किया किया स्थलीय निरीक्षण

कैलाश सिंह विकास


गोदौलिया से दशाश्वमेध तक 8 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडीस्ट्राइजेशन कार्य का कमिश्नर ने किया किया स्थलीय निरीक्षण



       वाराणसी।  कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने गोदौलिया से दशाश्वमेध तक 8 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडीस्ट्राइजेशन कार्य को पूरा कराए जाने हेतु कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम को 3 महीने समय सीमा देते हुए सितंबर तक प्रत्येक दशा में कार्य को पूरा कराए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने सड़क के दोनों तरफ पाथवे पर लगाए जा रहे ग्रेनाइट पत्थर के साथ ही सड़क पर लगाए जा रहे कट स्टोन के मध्य अधिक गैफ होने तथा लेबलिंग अपेक्षाकृत ऊपर-नीचे होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए पत्थरों को सटाकर लगाये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने मौके पर मौजूद कार्यदाई संस्था के परियोजना प्रबंधक को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि कार्य की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने दोनों तरफ सड़क के किनारे पाथवे पर लगाए जा रहे पत्थर के बड़े स्तंभों के मध्य एक-एक छोटा स्तंभ एवं लोगों के बैठने के लिए बेंच भी लगाए जाने का निर्देश दिया। साथ ही दोनों तरफ खूबसूरत लाइटिंग के साथ-साथ वृक्षारोपण कराए जाने का भी निर्देश दिया।
          कमिश्नर दीपक अग्रवाल बुधवार को गोदौलिया से दशाश्वमेध तक 8 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडीस्ट्राइजेशन कार्य का स्थलीय निरीक्षण कर रहे थे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने लगाए जा रहे ग्रेनाइट पत्थर एवं कट स्टोन का लोड टेस्टिंग कराए जाने का निर्देश दिया। कार्य में प्रयोग हो रहे मौके पर उपलब्ध कट स्टोन को देखने के दौरान किन्ही-किन्ही पत्थरों पर ब्लैक स्पॉट देखकर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए एक ही रंग के पत्थर का उपयोग किए जाने का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान गोदौलिया चौराहे से थोड़ी ही दूर पर सड़क के किनारे अस्त-व्यस्त शौचालय को देखकर उसे मौके से हटवाने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि गोदौलिया चौराहे के बगल में निर्माणाधीन दोपहिया वाहन पार्किंग स्थल पर शौचालय बनाया जा रहा है। अब इस शौचालय की उपयोगिता नहीं रहेगी। उन्होंने गोदौलिया से दशाश्वमेध मार्ग के दोनों तरफ के मकानों एवं उनके पिलर पर फसाड लाइटिंग कराए जाने का भी निर्देश दिया। सड़क की दोनों तरफ विद्युत तारों को अंडरग्राउंड कराए जाने के साथ ही साथ नाली की लेबलिंग कराए जाने पर विशेष जोर दिया। ताकि सड़क पर बरसात आदि की पानी एकत्रित न होने पाए। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने गोदौलिया से दशाश्वमेध तक तीन बार चक्रमण कर कार्य के बाबत कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने मौके पर मौजूद के परियोजना प्रबंधक को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्य को मानक के अनुरूप उच्च गुणवत्ता के साथ युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर समय सीमा में प्रत्येक दशा में पूरा कराएं। इसमें अब किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने मौके पर मौजूद श्रमिकों को फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क का उपयोग के साथ ही सैनिटाइजर आदि का प्रयोग किया जाना सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि गोदौलिया से दशाश्वमेध मार्ग तक निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडीस्ट्राइजेशन सितंबर तक पूर्ण हो जाएगा। इसके साथ ही गोदौलिया चौराहे पर दोपहिया तथा मैदागिन स्थित टाउन हॉल पार्क में चार पहिया वाहनों का पार्किंग स्थल का निर्माण कार्य भी काफी तेजी से चल रहा है और शीघ्र ही पूर्ण हो जाएगा। निश्चित रूप से इन दोनों पार्किंग स्थलों पर वाहनों की पार्किंग होने से दशाश्वमेध मार्ग पर प्रायः होने वाली भीड़ को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकेगा और इससे यहां पर आने वाले पर्यटकों को बेहतर सुविधा मिलेगा और यहा आने वाले पर्यटकों को गोदौलिया- दशाश्वमेध की अनुपम छवि देखने को मिलेगी। 

कमिश्नर ने कुछ नावों में प्रतीकात्मक रूप से सीएनजी कीट लगवाए जाने का गेल के अधिकारी को दिया निर्देश

           निरीक्षण के दौरान माझी समाज के अध्यक्ष प्रदीप साहनी उर्फ सोनू से कमिश्नर ने अपने-अपने नावों में सीएनजी किट लगवाए जाने पर जोर देते हुए मौके से ही गेल के अधिकारी को फोन पर कुछ नावों में प्रतीकात्मक रूप से सीएनजी कीट लगवाए जाने का निर्देश दिया। ताकि नाविक सीएनजी गैस किट से प्रयोगात्मक रूप से वाकिफ और प्रेरित हो सके। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि नाउ में सीएनजी किट लगने से पर्यावरण के साथ-साथ गंगा नदी का भी पर्यावरण शुद्ध होने में यह सहायक साबित होगा।
          निरीक्षण के दौरान उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक आरबी सिंह, पर्यटन अधिकारी कीर्तिमान श्रीवास्तव के साथ ही अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।