काशी में कोरोना से ‘आर-पार’, प्लाज्मा थेरेपी के लिए तैयार है बीएचयू का चिकित्सा विज्ञान संस्थान - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 15 July 2020

काशी में कोरोना से ‘आर-पार’, प्लाज्मा थेरेपी के लिए तैयार है बीएचयू का चिकित्सा विज्ञान संस्थान

कैलाश सिंह विकाश

काशी में कोरोना से ‘आर-पार’, प्लाज्मा थेरेपी के लिए तैयार है बीएचयू का चिकित्सा विज्ञान संस्थान




वाराणसी: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की अब तक कोई दवा नहीं मिली है। इसके लिए शोध चल रहे हैं लेकिन एक तथ्य यह सामने आया है कि संक्रमण से स्वस्थ हुए व्यक्ति का प्लाज्मा दूसरे के लिए ‘रामवाण’ बन सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए चिकित्सा विज्ञान संस्थान बीएचयू ने की कोविड-19 से स्वस्थ हुए लोगों से अपील, प्लाज्मा डोनेट करने के लिए आगे आयें। बीएचयू ब्लड बैंक कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए, जिन्हें प्लाज्मा थेरेपी की आवश्यकता है, उन्हें प्लाज्मा उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत है। ब्लड बैंक में उपलब्ध तीन अफेरेसिस मशीन पूर्ण रूप से क्रियाशील है जिनके द्वारा कोविड 19 से स्वस्थ हुए मरीजों का प्लाज्मा लिया जा सकता है।

एक को दी जा चुकी है प्लाज्मा थेरेपी

कोविड आईसीयू में भर्ती एक मरीज को पहले ही प्लाज्मा थेरेपी दी जा चुकी थी। सोमवार की देर शाम को डोनर स्क्रीनिंग के लिए कोविड से ठीक हुए दो डोनर के रक्त का नमूना लिया गया था, लेकिन एंटीबॉडी की मात्रा पर्याप्त नहीं होने के कारण दोनों डोनर प्लाज्मा डोनेशन के लिए उपयुक्त नहीं पाए गए। इन में से एक चिकित्सा विज्ञान संस्थान के जूनियर रेजिÞडेंट डॉक्टर हैं तथा दूसरे वाराणसी के नागरिक हैं।

आला चिकित्सक खुद रख रहे हैं नजर

पीआरओ बीएचयू राजेश सिंह ने स्वीकार किया कि चिकित्सा विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो. आरके जैन, सर सुन्दरलाल अस्पताल के एमएस प्रो. एसके माथुर एवं प्रो. जया चक्रवर्ती, नोडल अधिकारी कोविड तथा अन्य शीर्ष अधिकारी निरन्तर स्थिति पर गहन निगरानी बनाए हुए हैं। चिकित्सा विज्ञान संस्थान काशी हिन्दू विश्वविद्यालय ने कोविड-19 से ठीक हुए उन सभी लोगों से अपील की है कि वे आरटी-पीसीआर रिपोर्ट के नेगेटिव आने के 14 दिन बाद प्लाज्मा डोनेशन के लिए आगे आएं।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।