रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों का चरणबद्व तरीकेे से कोविड-19 की जांच किया गया - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 28 August 2020

रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों का चरणबद्व तरीकेे से कोविड-19 की जांच किया गया

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों का चरणबद्व तरीकेे से कोविड-19 की जांच किया गया

         वाराणसी 27 अगस्त, 2020: पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सुरक्षा के लिये सतत प्रयत्नशील है। इसी क्रम में वाराणसी मंडल के अंतर्गत मंडल चिकित्सालय, गाजीपुर सिटी हेल्थ यूनिट एवं मऊ हेल्थ यूनिट में कोविड-19 संक्रमण के फैलाव को ध्यान में रखकर सभी रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों का चरणबद्व तरीकेे से कोविड-19 की जांच किया गया , जिसके प्रथम चरण में मंडल चिकित्सालय वाराणसी में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ०एम एस नबियाल के नेतृत्व में जिला प्रशासन के सहयोग से 56 कर्मचारियों/अधिकारियों का रैपिड एंटीजेंट टेस्ट किया गया जिसमें  एक पॉजिटिव बाकी सभी निगेटिव मिले ।  इसी क्रम में वाराणसी मंडल के अंतर्गत गाजीपुर सिटी स्टेशन के स्वास्थ्य यूनिट में जिला प्रशासन के सहयोग से 102 रेलवे कर्मचारियों एवं उनके परिजनों की रैपिड किट के माध्यम से रैपिड एंटीजेंट जाँच की गई जिनमें 5 लोग पॉजीटिव एवं अन्य निगेटिव पाए गए। इसी क्रम में वाराणसी मंडल के अंतर्गत मऊ के स्वास्थ्य केंद्र यूनिट में भी जिला प्रशासन के सहयोग से मऊ जं पर कार्यरत 100 कर्मचारियों एवं अधिकारियों का रैपिड एंटीजेंट जाँच किया गया जिसमें 03 कर्मचारी पॉजिटिव एवं अन्य सभी संक्रमण मुक्त पाए गए । 
उक्त रैपिड एंटीजेंट टेस्ट में स्टेशनों पर स्थित कार्यालयों ,परिचालन ,इंजीनियरिंग,आर.पी.एफ, वाणिज्य आदि विभागों के वरिष्ठ पर्यवेक्षक एवं कर्मचारियों का   हेल्थ यूनिट में कैम्प लगाकर जांच की गयी। उक्त तीनों स्थानों पर कैम्प लगाकर जिला प्रशासन के सहयोग से   विभिन्न स्टेशनों एवं विभागों में कार्यरत कुल 258 कर्मियों की जांच की गयी। 
इसके पूर्व जिला प्रशासन से सम्बद्ध चिकित्सालयों में आर.टी.पी.सी.आर.(Reverse Transcription Polymerase Chain Reaction) जाँच एक जटिल प्रक्रिया द्वारा की जा रही थी जिसमें काफी समय लगता था । रैपिड किट के माध्यम से रैपिड एंटीजेन्ट टेस्ट कम समय में शरीर में उपस्थित कोरोना वायरस के एन्टीबाडी की जाँच करता है जो संक्रमण के विभिन्न चरणों में भी सटीकता से रिपोर्ट देता है । 
कोरोना जांच कैम्प के दौरान कोरोना से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग सहित सभी मानकों पालन किया गया।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।