गोण्डा: सरकार की नीतियों के विरुद्ध श्रमिक संगठनों का धरना प्रदर्शन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

Tahkikat News App

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 10 August 2020

गोण्डा: सरकार की नीतियों के विरुद्ध श्रमिक संगठनों का धरना प्रदर्शन

राकेश सिंह गोण्डा 

सरकार की नीतियों के विरुद्ध श्रमिक संगठनों का धरना प्रदर्शन

गोण्डा/ केंद्र व राज्य सरकार की जनबिरोधी नीतियों के खिलाफ 9 अगस्त 2020 को क्रांति दिवस के अवसर पर ट्रेड यूनियन की आयोजन समिति गोंडा के तत्वाधान में गोंडा रेलवे स्टेशन पर देश बचाओ दिवस के बैनर तले एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया। धरने की अध्यक्षता एटक के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष कामरेड सत्यनारायण त्रिपाठी, आंगनवाड़ी कर्मचारी यूनियन की प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष कामरेड मीनाक्षी खरे ने किया। संचालन सीआईटीयू के राज्य कमेटी सदस्य कामरेड कौशलेंद्र पांडे ने किया।धरने को किसान सभा के जिला संयोजक राजीव कुमार, एटक के जिला प्रभारी कामरेड जमाल खान, पूर्वांचल चीनी मिल के वरिष्ठ अध्यक्ष ईश्वर शरण शुक्ला, दिलीप शुक्ला मंडल संयोजक स्कीम वर्कर समन्वय समिति,भारत की जनवादी नौजवान सभा के जिला सचिव आशीष सिंह, खेत मजदूर यूनियन के जिला संयोजक खगेंद्र जनवादी,कामरेड राम किशोर, अखिल भारतीय डाक कर्मचारी यूनियन के मंडल के महामंत्री सत्यप्रकाश पांडे ने संबोधित किया। श्रमिक संगठनों के धरने का समर्थन किसान सभा, भारत की जनवादी नौजवान सभा, खेत मजदूर यूनियन ने किया।इस अवसर पर प्रधानमंत्री महोदय, जिलाधिकारी गोंडा को संबोधित 8 सूत्री मांगपत्र ई मेल के माध्यम से भेजा गया है।दिये गये मांगपत्र में सभी आयकर न देने वाले परिवारों को प्रतिमाह सात हजार पांच सौ रुपये छ माह तक दिये जाने,सभी को स्वास्थ सुबिधा उपलब्ध करायी जाने,सभी जरूरत मंद लोगों को दस किलो मुफ्त अनाज छ माह तक दिये जाने,मनरेगा योजना में दो सौ दिन का काम व छ सौ रुपये प्रतिदिन मजदूरी दिये जाने,सार्वजनिक क्षेत्र रेलवे बीमा, बिजली,कोयला,बैंक आदि के निजीकरण पर रोक लगाने,मंदी व श्रम कानून को अध्यादेश के  माध्यम से बदलने की साजिश पर रोक लगाई जाए। आंगनबाड़ी, आशा, मिड डे मील रसोईया, को न्यूनतम वेतनमान के साथ अन्य सामाजिक सुरक्षा पीएफ बोनस आदि दिया जाये तथा 62 वर्ष की आयु में रिटायर करने पर रोक लगाई जाये। सभी ठेका मजदूरों को उनके ठेकेदार बदलने पर मजदूरों को नौकरी से ना निकाला जाए तथा नए ठेकेदार के साथ काम करने दिया जाए एवं समस्त बकाया वेतन का भुगतान अतिशीघ्र किया जाए। धरने में सुनीता, दाया ललित कुमार जयसवाल, मेवाराम, संतराम, रमेश कुमार, चंद्रेश कुमार, सतीश वर्मा ,गिरजेश वर्मा,दुर्गा सिंह पटेल, शहजाद अली, आकाश जनवादी, दिनेश कुमार, रामगोविंद मिश्रा, बजरंग प्रसाद सिंह,अरविंद कुमार ,जनार्दन प्रसाद आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।