बस्ती: पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालय के निर्माण के बहाने करोड़ों का गोलमाल - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 4 September 2020

बस्ती: पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालय के निर्माण के बहाने करोड़ों का गोलमाल

रुधौली से मोहित गुप्ता की रिपोर्ट

पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालय के निर्माण के बहाने करोड़ों का गोलमाल

 गांवों में बन रहे पंचायत भवन व सामुदायिक शौचालय निर्माण के मानकों से कोसों दूर


रुधौली: प्रदेश सरकार की ओर से ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों की सुविधाओं के लिए बनाए जा रहे हैं पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालय के निर्माण में करोड़ों की धांधली देखी जा सकती है। इन भवनों का निर्माण में गुणवत्ता नाम की चीज हकीकत से कोसों दूर है, वही जिम्मेदार भी कागजी तौर पर अपनी जिम्मेदारी निपटा कर हकीकत से आंख बंद किए हुए हैं।
बताते चलें कि वर्तमान में लगभग सभी ग्राम पंचायतों में एक ही छत के नीचे विकास कार्य को करने के लिए पंचायत भवनों तथा गांव में को बाहरी शौच से मुक्त करने के लिए सामुदायिक शौचालयों का निर्माण ग्राम प्रधान द्वारा कराया जा रहा है। मनरेगा और 15वें वित्त के संयुक्त धन आवंटन से हो रहे निर्माण कार्यों में गुणवत्ता कोसों दूर हैं, कहीं घटिया किस्म की ईंट इस्तेमाल किए जा रहे हैं तो कहीं खराब स्तर का मसाला भी लगाया जा रहा है, दूसरी ओर इन गुणवत्ता विहीन निर्माणों पर किसी जिम्मेदार की टोका टोकी भी नहीं है और तो और स्थानीय लोगो की शिकायत पर जिम्मेदारों द्वारा गैर जिम्मेदाराना ढंग से जवाब भी दिया जा रहा है। मंगलवार की तहकीकात न्यूज़ की पड़ताल में रुधौली विकासखंड के ग्राम पंचायत बाघाडीहा, हरैया मिश्र एवं अठदेउरा ग्राम पंचायतों में निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालयों की हकीकत देखी गई जहां निर्माण के मानकों व गुणवत्ता की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है।
 यहां बन रहे शौचालयों में पुराने वाह स्वयं दर्जे के आठ घटिया मसाले का प्रयोग किया जा रहा है और तो और शौचालय के टीमों के नीचे ईटों के दीवाल के जगह मिट्टी भरने की तैयारी की जा रही है इस संबंध में जब डीडीओ एवं प्रभारी बीडीओ रुधौली अजीत कुमार श्रीवास्तव से बात करने की कोशिश की गई तो उनका फोन नहीं उठा, इसके बाद मामले को उपजिलाधिकारी नीरज प्रसाद पटेल के संज्ञान में लाने पर उन्होंने संबंधित विभाग को जांच के लिए निर्देशित करने का आश्वासन देते हुए, जिम्मेदारों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया।



No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।