गोरखपुर में निषाद समाज के लिए मत्स्य विश्वविद्यालय बनाने का मुद्दा रविकिशन ने संसद में उठाया - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 23 September 2020

गोरखपुर में निषाद समाज के लिए मत्स्य विश्वविद्यालय बनाने का मुद्दा रविकिशन ने संसद में उठाया

कृपा शंकर चौधरी ब्यूरो गोरखपुर


 गोरखपुर में निषाद समाज के लिए मत्स्य विश्वविद्यालय बनाने का मुद्दा रविकिशन ने  संसद में उठाया

- प्रशिक्षण के बाद वैज्ञानिक तरीके का उपयोग कर ,आर्थिक स्तिथी मजबूत कर सकेंगे ।

गोरखपुर,23 सितम्बर 
गोरखपुर के सांसद रवि किशन ने निषाद समाज की समस्याओ पर लोकसभा अध्यक्ष का ध्यान आकर्षित कराया।सांसद ने गोरखपुर में एक मत्स्य विश्वविद्यालय खोलने की माँग की।
  सांसद रवि किशन ने कहा कि निषाद हमारे देश का एक  मह्त्वपूर्ण  समाज है।वर्तमान समय में इस समाज की स्तिथी और अच्छी करने की आवश्यकता है इसे और मजबूत करने की जरूरत है।प्रदेश में इनकी आबादी लगभग 13 प्रतिशत है।गोरखपुर व आसपास के जनपदों में भी इनकी संख्या अच्छी है।आज भी इन क्षेत्रो में इनका प्रमुख व्यवसाय मछ्ली पालन और मछली पकड़ना ही है।कार्य में उचित जानकारी न होने के कारण कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है।ऐसे में इन्हें प्रशिक्षण की  आवश्यक्ता है ।और प्रशिक्षण के लिए एक मत्स्य   विश्वविद्यालय का होना अनिवार्य है।जँहा यह शिक्षा ग्रहण कर अपने व्यवसाय में कुशल बन सके।वैज्ञानिक तरीके से वह अपने व्यवसाय को बढ़ाकर अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत कर सकते है।इसलिए केंद्र सरकार से अनुरोध करता हूँ कि गोरखपुर में एक मत्स्य विश्वविद्यालय की स्थापना की जाए ।इससे ना केवल मत्स्य पालन के क्षेत्र में नए अनुसन्धान और शोध हो पाएंगे बल्कि उस क्षेत्र में रोजगार देने वाले एक मह्त्वपूर्ण व्यवसाय को और संगठित और वैज्ञानिक रूप से चलाया जा सकेगा।

 सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निषाद समाज के हितो के लिए कई सराहनीय कार्य किये हैं और कर रहे हैं।इस समाज के  उत्थान के लिए योगी सरकार निरंतर प्रयासरत भी है।केंद्र सरकार ने भी सरहनीय कार्य इनके विकास के लिए किये हैं।गोरखपुर में मत्स्य विश्वविद्यालय का खुलना इस समाज के उत्थान में मील का पत्थर साबित होगा।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।