निर्दोषों को फसाकर , दोषियों को बचाने की कोशिश कर रही है पुलिस - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 4 September 2020

निर्दोषों को फसाकर , दोषियों को बचाने की कोशिश कर रही है पुलिस

लखनऊ ब्यूरो

निर्दोषों को फसाकर , दोषियों को बचाने की कोशिश कर रही है पुलिस

बलिया । नगर पालिका रसड़ा में पुलिस बल पर पथराव का मामला राजनीतिक होने लगा है। स्थिति यह है की मामले को तूल देने वाले पाक-साफ तो निर्दोष सलाखों के पीछे पहुंचने के कतार में हैं। बताया गया धोबई निवासी राम दुलारी देवी ने कमरा खाली कराने के संबंध में दिनांक 2/9 /2020 को   चौकी दक्षिणी थाना रसड़ा बलिया के चौकी इंचार्ज को  प्रार्थना पत्र दिया था

कार्रवाई करते हुए  दिनांक 2 /9/ 2020 की शाम को धोबई नगर पालिका रसड़ा  निवासी पन्नालाल पुत्र  राम बड़ाई को थाना चौकी इंचार्ज श्री धर्मेंद्र सिंह ,कांस्टेबल राजबली यादव द्वारा मकान के विवाद में चौकी पर लाया गया और उसे बुरी तरह से मारा पीटा गया हालात गंभीर होने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रसड़ा इलाज हेतु ले गए और मरहम पट्टी करने के उपरांत हालत नाजुक होने के कारण डाक्टरों ने जिला चिकित्सालय बलिया रेफर कर दिया गया। बताया गया पन्नालाल को धर्मेंद्र सिंह चौकी इंचार्ज द्वारा सरकारी एंबुलेंस द्वारा बलिया ले जाया गया जहां पूरी रात ईलाज चला। जिला चिकित्सालय द्वारा दिनांक 3/9/ 2020 को सुबह डिस्चार्ज कर दिया गया और धर्मेंद्र सिंह चौकी इंचार्ज द्वारा उसके घर तक पहुंचाया। पुलिस के लौटने के बाद बीरबल राम ,संजय जयसवाल, विनय जयसवाल, राजेश गुप्ता ,अजीत कुमार राजभर जो आर एस एस , विश्वहिंदू परिषद और भाजपा के नेताओं के नेतृत्व में धोबई पहुंच कर वहां के लोगों को  साथ लेकर सड़क पर चक्काजाम किया गया, और आसपास के लोगों को फोन कर भीड़ इकट्ठा करने लगे ।भीड़ इकट्ठा होने  पर यातायात बाधित हुआ, तब पुलिस आई और बातचीत कर मामले को निपटाने का प्रयास किया।  अचानक अन्य पुलिसकर्मी  लाठीचार्ज कर दिए जिससे आक्रोशित जनता ने भी पथराव किया जिससे पुलिस व जनता दोनों को चोटें आईं। पुलिस विभाग द्वारा असली मुल्जिम  छोड़कर निर्दोष लोगों को फंसा रही है, जबकि मारने वाले से ज्यादा दोषी ललकारने वाला होता है । दरअसल जिन लोगो ने उकसा कर सड़क जाम कराया एवं पथराव के लिए भीड़ को उकसाया पुलिस उन लोगों पर कार्रवाई नहीं कर रही है अपितु निर्दोष लोगों को अंदर कर पहुंच वाले लोगों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।