BALIA हैप्पी न्यू ईयर के दिन पंखे के हुक से लटका मिला गोलू का शव ,जांच में जुटी पुलिस प्रशासन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 1 January 2021

BALIA हैप्पी न्यू ईयर के दिन पंखे के हुक से लटका मिला गोलू का शव ,जांच में जुटी पुलिस प्रशासन

बलिया /रतसर ( माइकल भारद्वाज)-

हैप्पी न्यू ईयर के दिन पंखे के हुक से लटका मिला गोलू का शव ,जांच में जुटी पुलिस प्रशासन

 बलिया। क्षेत्र के गड़वार थाना अंतर्गत बारांबाध गांव में गुरुवार की रात गांव के ही 24 वर्षीय युवक पंखे के हुक में साल का फंदा बनाकर झूल गया।

एक तरफ जहां पूरा देश नए वर्ष के आगमन को लेकर जश्न मनाने की तैयारी में जुटा था, वही एक मां ने अपने कलेजे के टुकड़े को फांसी के फंदे पर लटकता देखकर बेसुध हो गई।
 मिली जानकारी के मुताबिक गड़वार थाना क्षेत्र के बाराबांध गांव निवासी अमित राजभर उर्फ गोलू पुत्र विदेशी राजभर (24 वर्षीय)  अपने चाचा उदेशी राजभर के साथ टेंट लगाने का काम किया करता था। टेंट का सारा सामान बगल के गणेश उपाध्याय के यहां अहाते में बनी कोठरी में रखा जाता था।

जहां उसकी रखवाली करने के लिए रोज की बात मृतक गोलू वहां पर सोता था। गुरुवार को भी रात में वह अपने घर से 9:00 बजे खाना खाकर टेंट के सामान की रखवाली करने के लिए चला गया ।गुरुवार को दिन में बाजार से नए वर्ष में विशेष पकवान बनाने के लिए बाजार से सामान खरीद कर मां को दिया था कि कल हम भाई-बहन मिलकर नए साल का जश्न मनाएंगे लेकिन ऐसा नहीं हो सका ।शुक्रवार की सुबह 5:00 बजे उसकी छोटी बहन 13 वर्षीय रीमा उसे जगाने के लिए गए तो वहां पर साल के फंदे के सहारे पंखे की हुक में अपने भाई को लटका देख कर डर गई और चिल्लाते हुए घर गए और इस घटना की जानकारी अपने मां रंभा देवी एवं भाई को दी। आनन-फानन में परिजन और आसपास के लोग मौके पर पहुंचे तो वहां का नजारा देख हतप्रभ हो गए और उसे फांसी के फंदे से नीचे उतारा ,तब तक उसकी मौत हो चुकी थी ।परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर चौकी प्रभारी रतसर राम अवध अपने हमराही के साथ घटनास्थल पर पहुंच मुआयना किया तथा मृतक के चाचा उदेशी राजभर के तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर शव का पंचनामा करवाया तथा पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

गांव के लोगों से पूछने पर पता चला कि मृतक के पिता विदेशी राजभर असम में मजदूरी का काम करते हैं। घर पर उसका छोटा भाई टेंगर राजभर 15 वर्ष ,छोटी बहन रीमा 13 वर्ष तथा मार रंभा देवी रहती थी ।मृतक अपने चाचा उदेशी राजभर का साथ मिलकर टेंट हाउस का कारोबार करता था। टेंट हाउस के सामान की रखवाली करने के लिए रोज वही पर सोता था। रोते- रोते उसकी मां रंभा देवी ने बताया कि नया साल मनाने के लिए बाजार से सामान खरीद कर ला दिया था कि कल घर में विशेष पकवान बनाकर नया साल मनाएंगे ।उसका लाया हुआ सामान दिखा कर उसकी मां दहाड़े मार कर रो रही थी। मां के जिगर का लाल का नए वर्ष में इस तरह से जाना पूरे गांव के लोगों को झकझोर के रख दिया है ।परिजनों ने इसकी सूचना मृतक के पिता को भी दे दिया है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।