छात्रों ने प्रदर्शित किया एक से बढ़कर एक कृतियां - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 16 February 2021

छात्रों ने प्रदर्शित किया एक से बढ़कर एक कृतियां

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

छात्रों ने प्रदर्शित किया एक से बढ़कर एक कृतियां

छात्र जीवन में हासिल उपलब्धियां जीवन पर्यंत साथ निभाती है-प्रणय सिंह

रोहनिया वाराणसी। -राजकीय महाविद्यालय जक्खिनी में आयोजित पांच दिवसीय रोवर्स रेंजर्स प्रगतिशील प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए टीचर्स स्टूडेंट एसोसिएशन फार सोशल टीच के प्रदेश अध्यक्ष प्रणय कुमार सिंह ने कहा कि छात्र जीवन के दौरान प्राप्त हुई उपलब्धियां व्यक्ति के साथ जीवन भर रहती हैं। कहा कि पढ़ाई के दौरान छात्रों को बहुआयामी प्रवृत्ति को सीखने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।कहा कि छात्र खेलकूद, गायन, वादन,स्काउट गाइड,रोवर रेंजर्स के माध्यम से सृजनशीलता को प्राप्त करता है। कहा कि छात्रों को मानसिक शिक्षा के साथ-साथ हैंड और हर्ट की शिक्षा भी लेनी चाहिए। यह व्यक्ति को फिल्म और संस्कारों के समन्वय से मिलती है।
  महाविद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि रोवर्स रेंजर्स सामाजिक समस्याओं और विपदा के समय समय हमेशा तत्पर रहते हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रशिक्षण के दौरान सीखे गए गुण छात्रों के जीवन में काम आते हैं।उन्होंने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए निरंतर,जिज्ञासु प्रवृत्ति का बनने की सलाह दी।इस अवसर पर रोवर्स रेंजर्स प्रभारी डॉ स्वर्णिम घोष और डॉक्टर योगेश पटेल ने भी संबोधन के माध्यम से छात्र-छात्राओं की कलाओं का बखान किया।
   कार्यक्रम के दौरान महाविद्यालय के छात्रों ने विभिन्न प्रदर्शनी आवश्यक निर्माण के माध्यम से अपनी प्रतिभा की प्रस्तुत दी। छात्रों ने रंगोली, अल्पना, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, सेव द ट्री,सेव इंडिया, कचरे का प्रबंधन सहित अन्य सामाजिक विषयों पर अपनी प्रस्तुति दी। इस दौरान भारी संख्या में छात्र-छात्राएं व शिक्षक गण उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।