कसौधन जिलाध्यक्ष को किया रिहा, डीएम के आश्वासन पर 'फिलहाल' अनशन समाप्त - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 20 February 2021

कसौधन जिलाध्यक्ष को किया रिहा, डीएम के आश्वासन पर 'फिलहाल' अनशन समाप्त

मोहित गुप्ता बस्ती रूधौली

कसौधन जिलाध्यक्ष को किया रिहा, डीएम के आश्वासन पर 'फिलहाल' अनशन समाप्त

आगामी 24 फरवरी को डीएम से वार्ता करेगा कसौधन समाज का एक विशेष प्रतिनिधि मंडल

● बैठक में प्रमाण पत्र जारी करने के विभिन्न बिंदुओं पर हो सकती है व्यापक चर्चा

रुधौली बस्ती।  हाल ही में कसौधन समाज को पिछड़ी जाति का प्रमाण पत्र जारी कराने की मांग को लेकर कसौधन समाज के जिलाध्यक्ष बृजकिशोर कसौधन अपने अन्य साथियों के साथ धरने व आमरण अनशन पर बैठे थे। इधर जनपद में शुक्रवार से शुरू होने जा रहे बस्ती महोत्सव से पूर्व गुरुवार की देर रात सांसद हरीश द्विवेदी के समझाने पर जब वे नहीं माने तो कोतवाली पुलिस गुरुवार की देर रात जिलाध्यक्ष सहित जगन्नाथ कसौधन व कांदू समाज के माधव मद्धेशिया को गिरफ्तार कर कोतवाली ले आई। अगले दिन बस्ती महोत्सव के उद्घाटन के बाद उनसे वार्ता करने पहुंचे जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन व पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा के आश्वासन पर उन्होंने अनशन समाप्त किया, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तारी से रिहा कर दिया गया।
       बताते चलें कि बस्ती महोत्सव शुरू होने से दो दिन पूर्व ही कसौधन महासभा के जिलाध्यक्ष बृज किशोर कसौधन अपने समाज को पिछड़ी जाति का प्रमाण पत्र जारी कराने के लिए धरने पर बैठ गए। जिसके बाद सांसद हरीश द्विवेदी के मनाने पर न मानने के कारण कोतवाली पुलिस जिलाध्यक्ष सहित दो अन्य को कोतवाली ले आई। यहां भी बृजकिशोर कसौधन के साथ उनके साथियों का आमरण अनशन जारी रहा। जिलाध्यक्ष के साथ दो अन्य की गिरफ्तारी की खबर फैलते ही शहर के कसौधन समाज एवं व्यापार मंडल के लगभग सैकड़ों लोगों ने बाइक जुलूस निकालकर जिला प्रशासन के विरोध में नारे लगाते रहे। पांडेय बाजार से चलकर गांधीनगर होते हुए डीएम कार्यालय पहुंचा जहां डीएम को ज्ञापन सौंपा गया, हरकत में आए जिला प्रशासन की ओर से डीएम आशुतोष निरंजन और एसपी हेमराज मीणा ने कोतवाली में पहुंचकर जिलाध्यक्ष बृजकिशोर कसौधन को आश्वासन देते कहा कि कसौधन महासभा का एक प्रतिनिधि मंडल 24 फरवरी को बैठक करे, जिसमे प्रमाण पत्र के लिए जो भी बिंदु है उन पर चर्चा की जाएगी। डीएम के आश्वासन के बाद माने जिलाध्यक्ष को रिहा किया गया।
       रिहा किए जाने के बाद कसौधन समाज की ओर से डीएम से वार्ता करने के लिए प्रतिनिधिमंडल के साथ किन-किन बिंदुओं पर चर्चा की जानी है इस पर व्यापक रूप से तैयारी की जा रही है जिसका परिणाम आगामी 24 फरवरी को नजर आएगा।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।