एक कट्टा 315 बोर एक जिन्दा कारतूस 315 बोर के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तारी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 18 March 2021

एक कट्टा 315 बोर एक जिन्दा कारतूस 315 बोर के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तारी

इश्वर चन्द्र पटेल कुशीनगर

एक कट्टा 315 बोर एक जिन्दा कारतूस 315 बोर के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तारी

कुशीनगर।  जनपद में अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाए जा रहे अभियान के क्रम में पुलिस उप महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक कुशीनगर विनोद कुमार सिंह के निर्देशन एवं अपर पुलिस अधीक्षक कुशीनगर अयोध्या प्रसाद सिंह व क्षेत्राधिकारी कसया कुशीनगर पीयूषकान्त राय  के पर्येवेक्षण में अवैध शस्त्र व कारतूस की बरामदगी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना कप्तानगंज पुलिस टीम के
प्रभारी निरीक्षक कपिलदेव चौधरी 
उ0नि0 उमेश कुमार यादव,का0 अजय तिवारी,का0 दुर्गा प्रसाद यादव,का0 हरिनाथ प्रजापति,का0 प्रवीण सरोज,का0 अरुण चौरसिया ने एक नफर अभियुक्त प्रिन्स यादव पुत्र मुनीब यादव साकिन जोलह पुरवा थाना अहिरौली बाजार जनपद कुशीनगर को एक अदद अवैध कट्टा 315 बोर व एक अदद जिन्दा कारतूस 315 बोर के साथ कस्बा बोदरवार से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के विरूद्ध अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है। पंजीकृत अभियोगः-
मु0अ0स0 91/2021 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट, अभियुक्त का विवरण -
प्रिन्स यादव पुत्र मुनीब यादव साकिन जोलह पुरवा थाना अहिरौली बाजार जनपद कुशीनगर विवरण बरामदगी –एक अदद कट्टा 315 बोर एक अदद जिन्दा कारतूस 315 बोर गिरफ्तारी का स्थान व समय – कस्बा बोदरवार ,समय 12.45.00 बजे   
अभियुक्त का आपराधिक इतिहास –
मु0अ0सं0 203/2019 धारा 392/411 भादवि थाना अहिरौली बाजार जनपद कुशीनगर। 
मु0अ0सं0 91/2020 धारा 272 भादवि व 60(1) आबकारी अधिनियम थाना अहिरौली बाजार जनपद कुशीनगर। मु0अ0सं0 142/2020 धारा 394 भादवि थाना अहिरौली बाजार जनपद कुशीनगर, मु0अ0स0 91/2021 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट थाना कप्तानगंज जनपद कुशीनगर

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।