वीरांगना लक्ष्मीबाई की स्मृति में जले दीप - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 18 June 2021

वीरांगना लक्ष्मीबाई की स्मृति में जले दीप

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

वीरांगना लक्ष्मीबाई की स्मृति में जले दीप

महारानी लक्ष्मीबाई की 164 वीं पुण्यतिथि की पूर्व संध्या पर उनकी जन्मस्थली पर जले दीप


वाराणसी,17जून ।  आजादी की लड़ाई अंग्रेजो के दांत खट्टे कर देने वाली देश की प्रथम महिला वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई की 164 वीं पुण्यतिथि पर दो दिवसीय स्मृति समारोह का शु•भरम्भ गुरूवार को भदैनी स्थित उनकी जन्मस्थली पर हुआ।  जागृति फाउण्डेशन के तत्वावधान में अयोजित स्मृति समारोह का सुभरंभ महारानी लक्ष्मी बाई की स्मृति में दीप जलाकर हुआ। समारोह का  शुभरम्भ  मुख्य अतिथि भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अशोक पाण्डेय,  वह बालिका नर्मदा गोल वसंत कन्या महाविद्यालय की बीकॉम की फाइनल ईयर की छात्रा, विशिष्ट अतिथि साहित्यकार जय प्रकाश मिश्र, वरिष्ठ समाजसेवी श्रीमती प्रियम मिश्र, समाजसेवी सीपी जैन, जागृति फाउण्डेशन के महासचिव रामयश मिश्र ने संयुक्त रूप से प्रथम दीप जलाकर किया। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अशोक पाण्डेय ने कहा कि काशी की बेटी व झांसी की रानी ने स्वतंत्रता संगा्रम में अपना बलिदान देकर अंग्रेजो कोभागने पर मजबूर दिया।  काशी की इस बेटी पर हमें गर्व है। साहित्यकार जय प्रकाश मिश्र ने कहा कि वीरांगना ने देश को आजाद कराने में जो अपना अमूल्य योगदान दिया है उसे देश की पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी।  श्रीमती प्रियम मिश्र ने कहा कि हमें वीरांगना के बताये हुए रास्ते पर चलते हुए देश की आन बान शान के लिए हमेशा अगे रहना होगा।

महारानी के के नााम पर वीरांगना एक्सप्रेस चलाने की मांग

 इस अवसर पर कार्यक्रम के संयोजक एवं जागृति फाउण्डेशन के महासचिव रामयश मिश्र ने केन्द्र सरकार से वाराणसी से ग्वालियर तक जाने वाली बुंदेलखंड एक्सप्रेस का नाम वीरांगना एक्सप्रेस रखने की मांग करते हुए कहा कि इसको लेकर वह पूर्व रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा व प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय मे ज्ञापन देकर मांग की है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुयी।  इस अवसर पर दिनेश मिश्र, विनय मिश्र हरिनाथ गौड़ उपस्थित थे।  कार्यक्रम का संचालन रामयश मिश्र ने किया तथा धन्यवाद सीपी जैन ने किया।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।