ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि सरकार का ध्यान शिक्षा, रोज़गार और महंगाई पर नहीं - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

Tahkikat News App

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 16 March 2020

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि सरकार का ध्यान शिक्षा, रोज़गार और महंगाई पर नहीं



उत्तर प्रदेश की सरकार 3 वर्ष पूरा होने पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) | राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री माननीय ओम प्रकाश राजभर जी ने वाराणसी में प्रेस वार्ता कर भारतीय जनता पार्टी के केंद्र व प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोला कहा कि कोरोना से ज्यादा खतरनाक भारतीय जनता पार्टी की सरकार है,कोरोना एक व्यक्ति की जान ले रहा है पर मौजूदा केंद्र और प्रदेश सरकार पूरे देश और प्रदेश को बर्बाद कर रहे हैं। सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने रिज़र्व बैंक, ईडी और सीबीआई प्रमुखों के गुजराती होने पर सवाल भी उठाया और कहा कि सिर्फ यही नहीं देश का प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और प्रदेश की राजयपाल भी गुजराती हैं साथ ही देश में सभी कामों के पट्टे भी गुजराती कंपनियों को ही दिए जा रहे हैं। प्रदेश और केंद्र की भाजपा सरकार पूरी तरह फेल है। कोरोना से ज़्यादा खतरनाक ये भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। दिल्ली हिंसा के ज़िम्मेदारों को वाई श्रेणी की सुरक्षा

ये सरकार देश को बर्बाद करने में लगी है। कोरोना से व्यक्ति बर्बाद होगा जो इससे प्रभावित होगा पर भारतीय जनता पार्टी देश देश की आवाम गरीब, पिछड़े, दलित को मार रही है। उन्होंने कहा कि पूरी सरकार दिल्ली में दंगा भड़काने वालों बचाने में लगी है। पूरी दुनिया कह रही है कि ये लोग दंगाइयों को बचा रहे हैं और वाई श्रेणी की सुरक्षा दे रहे हैं। कोरोना से ज़्यादा खतरनाक है ये देश और प्रदेश की सरकार। सरकारें तो आम जान मानस को जागरूक कर रही हैं तो उन्होंने कहा कि टीवी पर दिखाने से जागरूक करने से क्या होगा। हॉस्पिटल में दवाई तो है ही नहीं, जो गरीब मर रहा है उसके इलाज के लिए सरकार के लिए पैसा नहीं है। कोरोना से बचाव क्ले लिए कोई रिसर्च नहीं हुआ है। ये पूर्ण रूप से फेल हैं। ये देश को बर्बाद करने में लगे हुए हैं और देश को लूट रहे हैं। आज पूरे देश में गुजरातियों का कब्ज़ा है।

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि सरकार का ध्यान शिक्षा, रोज़गार और महंगाई पर नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ऐसे प्रधानमंत्री बने हैं जिन्होंने 5 करोड़ लोगों की नौकरी छीनी है।सरकार पिछड़ा वर्ग एवं दलित विरोधी है ऐसा लगता है कि जैसे घोषित इमरजेंसी लगी हो संविधान की मर्यादा तार-तार हो रही है गरीबों दलितों को अपनी बात कहने से भी रोका जा रहा है गरीबों को दिया जा रहा है गरीबों को धार्मिक कार्य पूजा-पाठ जा रहा है कल कारखानों का निर्माण किया जा रहा है और राजनीति जा रही है बाबा साहब अंबेडकर जी ने गरीबों के लिए सिर्फ अमीरों और तीमारदारों ने झाड़ू लगाने की कोशिश की है बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने जो एक वोट का अधिकार सबको दिया था भारतीय जनता पार्टी की सरकार एनपीआरसी के जरिए जा रही है लोगों से पूरा विवरण मांगा जाएगा और फिर जो लोग अपने संपूर्ण को नहीं दिखा पाएंगे उन्हें लिया जाएगा और फिर उनका नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन में नहीं जोड़ा जाएगा इसके बाद उनकी नागरिकता समाप्त हो जाएगी और नागरिकता समाप्त होने के बाद के सारे अधिकार समाप्त हो जाएंगे और गुलामी की जंजीरों में जकड़ दिया जाएगा और डिटेंशन सेंटर में भेज दिया जाएगा मैंने यह बात इसलिए कही कि इसका असर सिर्फ और सिर्फ गरीबों पर ही आने वाला है क्योंकि उनके पास कोई तो नहीं है इसलिए आप सब को यह सलाह दी जाती है कि जो कर्मचारी के लिए आपके घर आए उसे पानी से कह दीजिए जो जानकारी मांगी जा रही है इसका पहला कदम है या सरकारी नौकरियों में जाने से रोकने के लिए सरकारी है प्राइवेट नहीं है इसलिए सरकार को समाप्त करना चाहिए ना रहेगी नौकरी और रहेगा की भागीदारी संख्या में आरक्षण देने का काम हमारी सरकार आने पर एक जाति विशेष के पास हम यह चाहते हैं कि समाज के हर वर्ग को उनकी संख्या के अनुपात में सरकारी एवं प्राइवेट सभी सेक्टरों में नौकरियां दी जाए हमारा नारा है जिसकी जितनी संख्या भारी उसकी उतनी हिस्सेदारी श्री राजभर ने कहा उत्तर प्रदेश सरकार छात्रों के साथ शुल्क देने में भी भेदभाव कर रही है 2019 में सामान्य वर्ग के छात्रों की संख्या लगभग 700000 थी और सामान्य बजट आवंटित किया जबकि संख्या किया जाना चाहिए था ₹30000 दिए जा रहे हैं जेल में सजा काट रहे और अपराधों में भी हो जाता है जमीन पर सिर्फ गरीबों का हक होना चाहिए ना अमीरों का इन्हीं सब जाति एवं लूट के खिलाफ लड़ाई तथा अपने अधिकार के लिए संघर्ष किया जा रहा है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।